Human rights activist Amjad Ayub Mirza statement on Pakistan Political crisis – हम लोग बेहद खुश, पाकिस्तान के ताजा हालात पर बोले मानवाधिकार कार्यकर्ता- कमजोर मुल्क आजादी मांग रहे लोगों के लिए मुफीद

रविवार को पाकिस्तान में संसद भंग कर दिया गया। माना जा रहा है आने वाले 90 दिनों के अंदर पाकिस्तान में चुनाव होंगे। जिसके बाद पाक की आवाम को नई सरकार मिलेगी। गौरतलब है कि रविवार को इमरान खान की सरकार को अविश्वास प्रस्ताव का सामना करना था। लेकिन उससे पहले ही डिप्टी स्पीकर ने इस प्रस्ताव को खारिज कर दिया।

इतना ही नहीं इमरान खान ने राष्ट्रपति से पाक असेंबली भंग करने की सिफारिश की थी, जिसे मंजूर कर लिया गया। वहीं पाक के सियासी संकट को लेकर आजतक पर हो रही एक चर्चा में पीओके नेता और मानवाधिकार कार्यकर्ता अमज़द अयूब मिर्ज़ा ने कहा, “इस वक्त पाकिस्तान में जिस तरह के हालात हैं, उससे हम बेहद खुश हैं।”

उन्होंने कहा, “पाकिस्तान की हालत जितनी खराब होगी, हमें उतना ही फायदा होगा। हम बेहद खुश हैं। पाक के ऐसे हालात बलूचिस्तान के लोगों के लिए अच्छे हैं, पाक अधिकृत कश्मीर, पाक के कब्जे वाले गिलगित बाल्टिस्तान के लोगों के लिए अच्छा है। जो भी पाक से आजादी के लिए लड़ रहे हैं, उन सभी के लिए पाक के मौजूदा हालात सुकून वाले हैं।”

अमज़द अयूब मिर्ज़ा ने कहा, “पाकिस्तान जितना कमजोर होगा, हमारी गुलामी की जंजीरें भी उतनी कमजोर होंगी और हम आजाद हो सकते हैं। उन्होंने कहा कि हम बड़े खुश हैं, पाक अधिकृत कश्मीर में लोग मिठाइयां बांट रहे हैं।” मिर्जा ने कहा कि पाकिस्तान खुद ही इतना कमजोर होता जा रहा है कि वो खुद ही खत्म हो जाएगा।

गौरतलब है कि पाकिस्तान में बने हालात को लेकर आर्मी को एक बड़े कारण के तौर पर देखा जा रहा है। हालांकि पाक आर्मी ने साफ किया है कि पाकिस्तान में अभी जो कुछ भी हो रहा है उस राजनीतिक हलचल से उसका कोई लेना-देना नहीं है।

वहीं पाकिस्तान में संसद भंग होने के फैसले की इमरान खान ने तारीफ की। इमरान ने कहा कि हमारे खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव आना एक विदेशी साजिश थी। अब पाक की आवाम को तय करना चाहिए उनपर कौन शासन करे। मैं पाकिस्तान की आवाम अपील करता हूं कि वे चुनाव की तैयारी करें।



Reference-www.jansatta.com

Add a Comment

Your email address will not be published.