Hong Kong banned Air India flights till April 24 due to 3 passenger find Corona positive कोरोना के चलते हांगकांग ने एयर इंडिया की फ्लाइट्स पर लगाया 24 अप्रैल तक प्रतिबंध

तीन यात्रियों के कोरोना पॉजिटिव आने के बाद हांगकांग ने 24 अप्रैल तक एयर इंडिया की उड़ानों पर रोक लगा दी है। हालांकि यात्रियों की ओर से किसी अन्य भारतीय और विदेशी विमान से हांगकांग जाने पर फिलहाल कोई रोक नहीं है। एक अधिकारी ने बताया कि हांगकांग सरकार के नियमों के मुताबिक कोई भी भारतीय हांगकांग जा सकता है लेकिन उसके पास वहां पहुंचने से 48 घंटे पहले का कोविड-19  निगेटिव सर्टिफिकेट होना अनिवार्य है। इसके साथ साथ ही सभी यात्रियों को हांगकांग एयरपोर्ट पर कोविड-19 टेस्ट कराना होगा।

एक अन्य अधिकारी की ओर से बताया गया कि एयर इंडिया की फ्लाइट AI316  दिल्ली-कोलकाता- हांगकांग में 16 अप्रैल को 3 यात्री कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे, जिसके बाद हांगकांग सरकार की ओर से एयर इंडिया की दिल्ली और कोलकाता से हांगकांग के लिए उडान भरने वाली फ्लाइट्स पर 24 अप्रैल तक रोक लगा दी है।

एयर इंडिया ने रद्द की उड़ानें:  हांगकांग की ओर से प्रतिबंध लगने के बाद एयर इंडिया की ओर से 23 अप्रैल तक की शेड्यूल सभी उड़ानों को रद्द कर दिया है। एयर इंडिया ने ट्वीट कर कहा कि  हांगकांग के प्रशासन द्वारा लगाए गए प्रतिबंध के बाद और सेक्टर में सीमित मांग के कारण, 19 अप्रैल से 23 अप्रैल के बीच  हांगकांग के लिए सभी उड़ानें रद्द कर दी गई हैं।

27 अप्रैल से शुरू हुई थी अंतरराष्ट्रीय उड़ानें : नागरिक उड्डयन मंत्रालय की ओर से कोरोना महामारी के करीब 2 साल बाद देश में अंतरराष्ट्रीय उड़ानों को पूरी क्षमता के मंजूरी दी गई थी। समर शेड्यूल 2022 के मुताबिक देश में 40 देशों की करीब 60 विमान कंपनियों की 1783 उड़ानों को मंजूरी दी गई है।

देश में प्री-कोविड स्तर तक पहुंचा एयर ट्रैफिक: पिछले महीने नागरिक उड्डयन ज्योतिरादित्य सिंधिया की ओर से संसद में जानकारी दी गई थी कि देश में घरेलू एयर ट्रैफिक प्री-कोविड स्तर तक पहुंच चुका है। उन्होंने कहा देश में कोरोना की तीसरी लहर में विमानों में सफर करने वाले की यात्रियों की संख्या करीब 1.6 लाख प्रति दिन तक पहुंच गई थीं जो कि कोरोना से पहले करीब 4 लाख यात्री प्रति दिन हैं। वहीं मौजूदा समय में यह करीब 3.8 लाख प्रति दिन तक पहुंच गई हैं।



Reference-www.jansatta.com

Add a Comment

Your email address will not be published.