Karachi Blast: Watch in the video how the woman blew herself up, Chinese citizens were the target – Karachi Blast: वीडियो में देखिए कैसे महिला ने खुद को उड़ा किया विस्फोट, निशाने पे थे चीनी नागरिक

कराची यूनिवर्सिटी में चीनी सेंटर के पास सुसाइड बॉम्बर ने खुद को उड़ा लिया। हमले में चार लोगों की जान गई जिसमें तीन चीनी नागरिक बताए जा रहे हैं। इस हमले की जिम्मेदारी बलोचिस्तान लिब्रेशन आर्मी ने ली है। हमले से जुड़ा एक फुटेज दिखाया जा रहा है, जिसमें महिला सड़क के किनारे खड़ी थी। वैन के पास आते ही उसने खुद को उड़ा लिया।

वीडियो में दिख रहा है कि बुर्का पहने एक महिला आत्मघाती हमलावर ने एक कार को विस्फोट से उड़ा दिया। विश्वविद्यालय के एक प्रवक्ता ने कहा कि मरने वालों में तीन चीनी नागरिक हैं जिनकी पहचान कन्फ्यूशियस इंस्टिट्यूट के निदेशक हुआंग गुइपिंग, डिंग मुपेंग, चेन सा और पाकिस्तानी चालक खालिद के रूप में हुई है। विस्फोट में वांग युकिंग और हामिद नामक दो अन्य लोग घायल हुए हैं।

आतंकवाद रोधी विभाग के अधिकारी राजा उमर ने कहा कि आत्मघाती हमला एक महिला ने किया। राजा उमर ने कहा कि वैन की सुरक्षा में रेंजर्स की एक टीम तैनात थी। वैन के पीछे मोटरसाइकिलों पर सवार चार रेंजर्स भी घायल हो गए।

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ ने विस्फोट पर दुख व्यक्त कर कहा कि मैं आतंकवाद के इस कायराना कृत्य की कड़ी निंदा करता हूं। पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी के अध्यक्ष बिलावल भुट्टो-जरदारी ने भी हमले की निंदा की। उन्होंने कहा कि सिंध पुलिस जल्द ही घटना की तह तक जाएगी और दोषियों को दंडित किया जाएगा।

चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारे के तहत चल रहीं कई परियोजनाओं में हजारों चीनी नागरिक पाकिस्तान में काम कर रहे हैं। यह पहली बार नहीं है जब कराची में चीनी नागरिक उग्रवादियों के हमलों का निशाना बने हैं। पिछले साल जुलाई में कराची के एक औद्योगिक क्षेत्र में मोटरसाइकिल पर सवार नकाबपोश हथियारबंद लोगों ने दो चीनी नागरिकों को ले जा रहे एक वाहन पर गोलियां चलाई थीं जिससे उनमें से एक चीनी नागरिक गंभीर रूप से घायल हो गया था।

जुलाई में ही लगभग एक दर्जन चीनी इंजीनियर तब मारे गए थे जब उत्तर पश्चिमी पाकिस्तान के पर्वतीय क्षेत्र में एक बांध परियोजना के पास निर्माण श्रमिकों को ले जा रही एक बस पर हमला किया गया था। 2018 में बलूच उग्रवादियों ने कराची में चीनी वाणिज्य दूतावास पर हमला किया था, लेकिन सुरक्षा बाधा को तोड़ने में विफल रहे थे। हमलावरों में से तीन मौके पर ही मारे गए थे।



Reference-www.jansatta.com

Add a Comment

Your email address will not be published.